दिल वो है जो हज़ारों मरी हुई ख्वाइशों के नीचे !! दब कर भी धड़कता है !! 

फ़िज़ूल बातें को भुलाकर !! रिश्ता निभाना चाहिए !! 

तुम्हे देखने के बाद न जाने क्यों !! तुम्हे ही देखने की तमन्ना रहती है !! 

शीशे,यादें,सपने,रिश्ते !! कब कहाँ टूट जाए कुछ नहीं पता !! 

काश शब्दों में ब्यान हो जाए !! जो गुज़रती है दिल पर !! 

रुलाने वाले वही है जो कहते थे !! हँसते हुए बहुत अच्छे लगते हो !! 

बिना एक -दूसरे को चोट पहुँचाए !! चीजों(विवादों)को समाप्त कीजिए !! 

इंसान के काम ही !! इंसान के विचार की अच्छी परिभाषा है !! 

कुछ रिश्ते मुनाफ़ा नहीं देते !! पर ज़िन्दगी को अमीर बना देते हैं !! 

तुम शब्द मैं अर्थ !! तुम बिन मैं व्यर्थ !!