रास्ता हो कोई पर मंज़िल तू ही है !! मेरे हर ख्वाब में शामिल तू ही है !!

तेरी हसी देख फूलों सा खिल जाता हूँ !! तू वजह है जो मैं हर पल मुस्कुराता हूँ !!

खुदा ने हमारे नसीब में प्यार काम !! और इंतज़ार ज्यादा लिखा है जान !! 

पहले गुस्सा हो जाना फिर प्यार से मानना !! तेरी ये अदा भी कमाल की है !! 

दुख की शाम हो या खुशी का सवेरा !! सब कुछ कबूल है अगर साथ है तेरा !!

हँसना उनकी आदत है !! और उन्हें देखना मेरी आदत है !! 

मैंने इतनी वफाओं का इम्तिहान दिया !! तब जाके कहीं नतीजे में वो मेरे हुए !!

जल्दी से ऑफिसियल मेरे हो जाओ !! फिर तुम्हे रोज़ तंग करूँगा !!

तुम्हारी फ़िक्र है मुझे कोई शक नहीं !! तुम्हे कोई और देखते किसी को हक़ नहीं !! 

हर किसी के पास ऐसा नोबिता हो !! जो अपनी सुजुका को कभी रोने न दे !!

फ़िक्र तो होगी न पागल तुम मोहब्बत !! बनते बनते जान जो बन गई हो !!