Latest 453+ Makar Sankranti Shayari In Hindi 2024 | मकर संक्रांति पर शायरी

Makar sankranti shayari in hindi-मकर संक्रांति, भारतीय हिन्दू कैलेंडर के अनुसार हर साल 14 जनवरी को मनाई जाती है। यह एक महत्वपूर्ण पर्व है जो सूर्य की उत्तरायण में होता है, जिसका मतलब है कि सूर्य उत्तर दिशा की ओर बढ़ रहा होता है।

मकर संक्रांति को विभिन्न नामों से जाना जाता है, जैसे कि पोंगल (तमिलनाडु), माघी (नेपाल), उत्तरायण (गुजरात), लोहड़ी (पंजाब), भोगाली बिहू (असम), और मकर संक्रांति (उत्तर भारत)। यह पर्व समृद्धि और खुशियों का प्रतीक माना जाता है और लोग इसे धूमधाम से मनाते हैं।

इस दिन, लोग सूर्य की पूजा करते हैं और अपने दुश्मनों के साथ मिलकर खिलमिलाते हैं। खिलोनों के बाजार, मेलों, और खासतर पुष्प भरे पतंगों के साथ खुशियों का महौल बनता है। लोग तिल, गुड़, मूंगफली, चावल, और दूध से बनी विशेषत: मकर संक्रांति की मिठाइयां खाते हैं।

मकर संक्रांति का अर्थ होता है सूर्य का मकर राशि में प्रवेश, इसलिए इसे मकर संक्रांति के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को सभी को खुशी और समृद्धि का महत्वपूर्ण दिन माना जाता है, जिसमें लोग अपने परिवार और दोस्तों के साथ एक साथ आकर्षक रंगीन पतंगों को उड़ाते हैं और मिलकर खुशियों का जश्न मनाते हैं।

मकर संक्रांति के महत्वपूर्ण रूप से मनाने वाले रिट्वल्स में पूजा का महत्वपूर्ण भाग होता है। सूर्य देव की पूजा तीन चरणों में की जाती है। पहले चरण में, लोग सुबह सूर्योदय के साथ ही नहाकर शुद्ध होते हैं और सूर्य को जल चढ़ाने के लिए तैयार होते हैं। दूसरे चरण में, वे व्रत रखकर सूर्य पूजा करते हैं और अन्न, धन्य, और फल को चढ़ाते हैं। तीसरे चरण में, लोग दान देते हैं और खिलमिलाते हैं, जिससे सामाजिक एकता और आपसी सदभावना को बढ़ावा मिलता है।

इस पर्व का एक और महत्वपूर्ण पहलू है किसानों के लिए। मकर संक्रांति के समय, गन्ना और अन्य फसलें पूरी तरह से पक जाती हैं और किसान खेतों में खुशी-खुशी काम करते हैं। इसे हर्वेस्ट फेस्टिवल के रूप में भी मनाया जाता है, जिसमें लोग अपनी पहली कटाई की धान, गेहूं, और अन्य फसलों का आनंद लेते हैं।

मकर संक्रांति भारतीय संस्कृति में गर्मी के मौसम के आगमन का संकेत देता है और लोग इसे खुशी-खुशी मनाते हैं। यह एक प्रकार का संगठन, आपसी मिलन-जुलन, और सूर्य की पूजा का पर्व होता है, जिसमें समृद्धि, सुख, और सफलता की कामना की जाती है। इस पर्व को समाज के लोग खासतर खुशी और एकता के साथ मनाते हैं, जिससे भारतीय संस्कृति का रंगीन और सामृद्ध दृश्य बनता है।

तिलगुड़ का लड्डू और खिचड़ी खूब खाएँ !!
आपको मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं !!

जीवन में बढ़े मिठास !! रिश्तों में बढ़े प्यार !!
मुबारक हो आपको मकर संक्रांति का त्यौहार !!

मीठी बोली मीठी जुबान !!
मकर संक्रांति का यही हैं पैगाम !!

उदारता !! दान और धर्म परायणता के पर्व !!
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं !!

एक ही समानता है पतंग औऱ जिन्दगी मॆं !!
ऊँचाई में हो तब तक ही वाह-वाह होती हैं।

आपके जीवन में आये सुख समृद्धि और शांति !!
ढेर सारी खुशियाँ लाये वर्ष 2024 की मकर संक्रांति !!

तिलगुड़ का लड्डू और खिचड़ी खूब खाएँ !!
आपको मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं !!

जीवन में बढ़े मिठास !! रिश्तों में बढ़े प्यार !!
मुबारक हो आपको मकर संक्रांति का त्यौहार !!

मीठी बोली मीठी जुबान !!
मकर संक्रांति का यही हैं पैगाम !!

भास्करस्य यथा तेजो मकरस्थस्य वर्धते !!
तथैव भवतां तेजो वर्धतामिति कामये !!

Makar Sankranti Shayari In Hindi

उदारता दान और धर्म परायणता के पर्व !!
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं !!

पतंग की तरह आकाश में बुलंदी पाएँ !!
मकर संक्रांति की आपको ढेरों शुभकामनाएँ !!

तुम क्या जानो गम क्या होता है !!
तुने तो हमेशा भात से ही पतंग चिपकाया हैं !!

बंदे है हम देश के हम पर किसका जोर !!
मकर संक्रांति में उड़े पतंग चारों और !!

मोहब्बत एक कटी पतंग है जनाब !!
गिरती वही है जिसकी छत बड़ी होती हैं !!

एक ही समानता है पतंग और ज़िंदगी में !!
ऊँचाई में हो तब तक ही वाह” वाह होती है !!

मीठी बोली !! मीठी जुबान !!
मकर संक्रांति का यही है पैगाम !!

ना कोई तरंग है !! ना कोई उमँग है !!
हमारी ज़िन्दगी भी क्या एक कटी पतंग है !!

ये पतंग भी बिल्कुल तुम्हारी तरह निकली !!
जरा सी हवा क्या लग गई हवा में उडने लगी !!

मीठी बोली मीठी जुबान !!
मकर संक्रांति का यही पैगाम !!

मकर संक्रांति के दिन आपके जीवन का अंधेरा छट जाये !!
एवं ज्ञान और प्रकाश से आपका जीवन उज्जवल हो जाए !!

 Happy Teachers Day In Hindi 2023 | शिक्षक दिवस

Makar Sankranti Shayari

ऐसा है की अपनी पतंग संभाल के उड़ाना !!
हमारी छत से पतंग तो मिल जाती है दिल वापस नहीं मिलता !!

तुम क्या जानो गम क्या होता है !!
तुने तो हमेशा भात से ही पतंग चिपकाया है !!

पतंग सी है जिंदगी !! कहाँ तक जाएगी !!
रात हो या उम्र !! एक ना एक दिन कट ही जाएगी !!

मोहब्बत एक कटी पतंग है जनाब !!
गिरती वही है जिसकी छत बड़ी होती है !!

इश्क की पतंगे उडाना छोड़ दिया वरना !!
हर हसीनाओं की छत पर हमारे ही धागे होते !!

तन में मस्ती मन में उमंग !!
देकर सबको अपनापन !!
गुड़ में जैसे मीठापन !!
होकर साथ हम उड़ाएं पतंग !!
और भर दें आकाश में अपने रंग !!

सुंदर कर्म शुभ पर्व !!
हर पल सुख और हर दिन शान्ति !!
आप सब के लिए लाये मकर संक्रांति !!

त्यौहार नहीं होता अपना पराया !!
त्यौहार है वही जिसे सबने मनाया !!
तो मिला के गुड़ में तिल !!
पतंग संग उड़ जाने दो दिल !!
हैप्पी मकर संक्रांति 2024 !!

मंदिर की घंटी पूजा की थाली !!
नदी के किनारे सूरज की लाली !!
जिंदगी में आये खुशियों की हरियाली !!
आपको मुबारक हो संक्रांति का त्यौहार !!

 Whatsapp Sad Status In Hindi 2023 | सैड व्हाट्सएप स्टेटस हिंदी

मकर संक्रांति पर शायरी

बचपन में वो धूम मचाना मौज मनाना !!
यारो के साथ पतंगे उड़ाना !!
बहुत सही था यार वो ज़माना !!
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें !!

नजर सदा हों ऊँची सिखाती है पतंग !!
इस संक्रांति में हमें !!
काम क्रोध लोभ मोह एवं अहंकार जैसी !!
पतंगों को भी काटने चाहिए !!

तिल हम हैं और गुड़ आप !!
मिठाई हम हैं और मिठास आप !!
साल के पहले त्यौहार से हो रही है आज शुरुआत !!
आपको हमारी तरफ से !!
हैप्पी मकर संक्रांति !!

उगता हुआ सूरज दुआ दे आपको !!
खिलता हुआ फूल खुशबू दे आपको !!
हम तो कुछ देने के काबिल नहीं हैं !!
देने वाला हजार खुशियां दे आपको !!
मकर संक्रांति की आपको हार्दिक शुभकामनायें !!

मीठे गुड़ में मिल गए तिल !!
उड़ी पतंग और खिल गए दिल !!
हर पल सुख और हर दिन शांति !!
आप सब के लिए लाये मकर संक्रांति !!

दिल में है छायी मस्ती !!
मन में भरी है उमंग !!
उड़ती हैं पतंगें रंग बिरंगी !!
आसमान में छाया मकर संक्रांति का रंग !!

मीठी बोली मीठी जुबान !!
मकर संक्रांति का यही पैगाम !!
मकर संक्रांति की शुभकामनायें !!

आपके जीवन में आये सुख समृद्धि और शांति !!
ढेर सारी खुशियाँ लाये वर्ष 2024 !!
की मकर संक्रांति !!

 Whatsapp Status In Hindi 2023 | व्हाट्सएप स्टेटस हिंदी

Makar sankranti shayari

मीठे गुड़ में मिल गये तिल !!
उडी पतंग और खिल गये दिल !!
हर पल सुख और हर दिन शांति !!
सबके लिए ऐसी हो मकर संक्रांति !!

जब सूरज मकर राशि में आता है !!
तो बहुत लोगो के दुःख-दर्द मिटाता है !!
हैप्पी मकर संक्रांति 2024 !!

पल पल सुनहरे फूल खिले !!
कभी न हो काँटों से सामना !!
जिंदगी आपकी खुशियो से भरी रहे !!
यही है मकर संक्रांति पर हमारी शुभकामना !!

है प्यारा यह पर्व हमारा !!
नया दिन और नया उजियारा !!
मिट जाएँ सब क्लेश दिलों के !!
मकर संक्रांति पर सन्देश हमारा !!

भगवान भास्कर आपको !!
यश वैभव एवं सुख समृद्धि प्रदान करें !!
शुभ मकर संक्रांति !!

टूटे जीवन के भ्रम और भ्रान्ति !!
सफलता के लिए करते रहे क्रांति !!
ताकि जीवन में आये सुख और शांति !!
मुबारक हो आपको मकर संक्रांति।

अंधकार से प्रकाश !! सुखद जीवन की आस !!
आपसी सौहार्द्र के लिये !! आओं करें निरंतर प्रयास !!
मकर-संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं !!

सपनों को लेकर मन में !!
उड़ायेंगे पतंग आसमान में !!
ऐसी भरेगी उड़ान मेरी पतंग !!
जो भर देगी जीवन में खुशियों की तरंग !!

 Best Mahadev Quotes In English

Makar sankranti shayari in hindi

सुंदर कर्म शुभ पर्व !!
हर पल सुख और हर दिन शान्ति !!
आप सब के लिए लाये मकर संक्रांति !!

हो आपके जीवन में खुशियाली कभी भी न रहे !!
कोई दुख देने वाली पहेली !!
सदा खुश रहें आप और आपकी Family !!
Happy Makar Sankranti !!

सोचा किसी अपने से बात करें !!
अपने किसी खास को याद करें !!
किया जो फैसला मकर संक्रांति की !!
शुभकामनाएं देने का !!
दिल ने कहा क्यों ना शुरूआत आपसे करें !!

तन में मस्ती मन में उमंग !!
देकर सबको अपनापन !! !!
गुड़ में जैसे मीठापन
होकर साथ हम उड़ाएं पतंग !!
और भर दें आकाश में अपने रंग !!

तिल हम हैं और गुड़ आप !!
मिठाई हम हैं और मिठास आप !!
साल के पहले त्योहार से हो रही है शुरुआत !!
आपको हमारी तरफ से ढे़र सारी मुराद !!

मंदिर की घंटी !! पूजा की थाली !!
नदी के किनारे !! सूरज की लाली !!
जिंदगी में आये खुशियों की हरियाली !!
आपको मुबारक हो संक्रांति का त्यौहार !!

पग पग सुनहरे फूल खिलें !!
कभी भी न हो काँटों का सामना !!
ज़िन्दगी आपकी ख़ुशी से भरी रहे !!
ये ही है हमारी मनोकामना।

त्यौहार नहीं होता है अपना पराया !!
त्योहार वही जिसे सबने मनाया !!
तो मिला के गुढ़ में तिल !!
पतंगन संग उड़ जाने दो दिल !!
हैप्पी मकर संक्रांति !!

Best You Are Amazing Quotes

Makar sankranti ki shayari

तन में मस्ती मान में उमंग देखकर सबका !!
अपनापन गुड़ में जैसे मीठापन !!
हो कर साथ हम उड़ाएंगे पतंग !!
और भर लें आकाश में अपने रंग !!
हैप्पी मकर संक्रांति !!

मंदिर की घंटी आरती की थाली !!
नदी के किनारे सुरज की लाली !!
जिंदगी में आये खुशियों की बहार !!
आपको मुबारक हो पतंगों का त्योंहार !!

है प्यारा यह पर्व हमारा !!
नया दिन और नया उजियारा !!
मिट जाये सब क्लेश दिलों से !!
मकर संक्रांति पर यही सन्देश है हमारा !!

आप पर सूर्य देवता के आशीर्वाद की !!
कृपा बनी रहे और आपका जीवन !!
खुशी की अनन्त सूर्य किरणों से भर जाए !!

गुल को गुलशन मुबारक हो चाँद !!
को चांदनी मुबारक हो शायर को !!
शायरी मुबारक हो !!
और हमारी तरफ से आप को !!

अंधकार से प्रकाश !! सुखद जीवन की आस !!
आपसी सौहार्द्र के लिये !! आओं करें निरंतर प्रयास !!
मकर-संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएं !!

सपनों को लेकर मन में !!
उड़ायेंगे पतंग आसमान में !!
ऐसी भरेगी उड़ान मेरी पतंग !!
जो भर देगी जीवन में खुशियों की तरंग !!

सुंदर कर्म शुभ पर्व !!
हर पल सुख और हर दिन शान्ति !!
आप सब के लिए लाये मकर संक्रांति !!

हो आपके जीवन में खुशियाली कभी भी न रहे !!
कोई दुख देने वाली पहेली !!
सदा खुश रहें आप और आपकी Family !!
Happy Makar Sankranti !!

Makar sankranti par shayari

सोचा किसी अपने से बात करें !!
अपने किसी खास को याद करें !!
किया जो फैसला मकर संक्रांति की !!
शुभकामनाएं देने का !!
दिल ने कहा क्यों ना शुरूआत आपसे करें !!

तन में मस्ती मन में उमंग !!
देकर सबको अपनापन !! !!
गुड़ में जैसे मीठापन
होकर साथ हम उड़ाएं पतंग !!
और भर दें आकाश में अपने रंग !!

तिल हम हैं और गुड़ आप !!
मिठाई हम हैं और मिठास आप !!
साल के पहले त्योहार से हो रही है शुरुआत !!
आपको हमारी तरफ से ढे़र सारी मुराद !!

मंदिर की घंटी !! पूजा की थाली !!
नदी के किनारे !! सूरज की लाली !!
जिंदगी में आये खुशियों की हरियाली !!
आपको मुबारक हो संक्रांति का त्यौहार !!

पग पग सुनहरे फूल खिलें !!
कभी भी न हो काँटों का सामना !!
ज़िन्दगी आपकी ख़ुशी से भरी रहे !!
ये ही है हमारी मनोकामना।

त्यौहार नहीं होता है अपना पराया !!
त्योहार वही जिसे सबने मनाया !!
तो मिला के गुढ़ में तिल !!
पतंगन संग उड़ जाने दो दिल !!
हैप्पी मकर संक्रांति !!

तन में मस्ती मान में उमंग देखकर सबका !!
अपनापन गुड़ में जैसे मीठापन !!
हो कर साथ हम उड़ाएंगे पतंग !!
और भर लें आकाश में अपने रंग !!
हैप्पी मकर संक्रांति !!

मंदिर की घंटी आरती की थाली !!
नदी के किनारे सुरज की लाली !!
जिंदगी में आये खुशियों की बहार !!
आपको मुबारक हो पतंगों का त्योंहार !!

है प्यारा यह पर्व हमारा !!
नया दिन और नया उजियारा !!
मिट जाये सब क्लेश दिलों से !!
मकर संक्रांति पर यही सन्देश है हमारा !!

Makar sankranti shayari hindi

आप पर सूर्य देवता के आशीर्वाद की !!
कृपा बनी रहे और आपका जीवन !!
खुशी की अनन्त सूर्य किरणों से भर जाए !!

गुल को गुलशन मुबारक हो चाँद !!
को चांदनी मुबारक हो शायर को !!
शायरी मुबारक हो !!
और हमारी तरफ से आप को !!

उगता हुआ सूरज !! दुआ दे आपको !!
खिलता हुआ फूल !! खुशबू दे आपको !!
हम तो कुछ देने के काबिल नहीं हैं !!
देने वाला हजार खुशियां दे आपको !!

सूरज की राशि बदलेगी !!
बहुतों की किस्मत बदलेगी !!
यह साल का पहला पर्व होगा !!
जब हम सब मिलकर खुशियाँ मनायेगें !!

कागज अपनी किस्मत से उड़ता है !!
लेकिन पतंग अपनी क़ाबिलियत से !!
इसलिए क़िस्मत साथ दे ना दे !!
क़ाबिलियत जरूर साथ देती है !!

हर पतंग जानती है !!
अंत में कचरे में जाना है !!
लेकिन उसके पहले हमें !!
आसमान छू कर दिखाना है !!
बस ज़िंदगी भी यही चाहती है !!

जैसे सूर्योदय के होते ही अंधकार दूर हो जाता है !!
वैसे ही मन की प्रसन्नता से सारी बाधाएँ शांत हो जाती है !!
सभी को मकर संक्राँति की हार्दिक शुभकामनाएँ !!

सोचा किसी अपने से बात करे !!
अपने किसी खास को याद करे !!
किया जो फैसला मकर संक्रांति की शुभकामनायें देने का !!
दिल ने कहा क्यों ना अपने से शुरुवात करे !!

Sankranti shayari

मीठे गुड़ में मिल गए तिल !!
उड़ी पतंग और खिल गए दिल !!
हर पल सुख और हर दिन शांति !!
आप सबके लिए लाये मकर संक्रांति !!

नजर सदा हो ऊँची !! सिखाती है पतंग !!
इस संक्रांति में हमें !!
कामक्रोध !! लोभमोह एवं अहंकार जैसी !!
पतंगों को भी काटना चाहिए !!

तन में मस्ती मन में उमंग !!
चलो सारे एक संग आज उड़ायें !!
आकाश में पतंग उछाले हवा में संक्रांति के रंग !!

बचपन में वो धूम मचाना मौज मनाना !!
यारों के साथ पतंगे उड़ाना !!
बहुत सही था यार वो ज़माना !!
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें !!

मंदिर की घंटी !! आरती की थाली !!
नदी के किनारेbसूरज की लाली !!
ज़िन्दगी में आये खुशियों की बहार !!
मुबारक हो आपको मकर संक्रांति का यह त्यौहार !!

हम छत पर चढ़े पतंग उड़ाने के बहाने !!
वो भी छत पर आई कपड़े सुखाने के बहाने !!
उसकी मम्मी ने जो देखा ये हसीन नज़ारा !!
झाड़ू ले आई वो बंदर भगाने के बहाने !!

मीठे गुड में मिल गये तिल !!
उडी पतंग और खिल गये दिल !!
हर दिन सुख और हर पल शांति !!
मुबारक हो आपको ये मकर संक्रांति !!

त्यौहार नहीं होता अपना पराया !!
त्यौहार है वही जिसे सबने मनाया !!
तो मिला के गुड़ में तिल !!
पतंग संग उड़ जाने दो दिल !!
हैप्पी मकर संक्रांति 2024

Makar sankranti love shayari

सर्दी की इस सुबह पड़ेगा हमें नहाना !!
मकर सक्रांति का पर्व कर देगा मौसम सुहाना !!
दिन भर पतंग हमें है उड़ाना !!
कहीं गुड़ कही तिल के लड्डू मिल कर हमें है खाना !!

तिल हम है और गुड़ आप !!
मिठाई हम है और मिठास आप !!
साल के पहले त्यौहार से हो रही है आज शुरुआत !!
आपको हमारी तरफ से- हैप्पी मकर संक्रांति !!

दिल में है छायी मस्ती !!
मन में भरी है उमंग !!
उड़ती हैं पतंगें रंग बिरंगी !!
आसमान में छाया मकर संक्रांति का रंग !!

पूर्णिमा का चाँद रंगों की डोली !!
चाँद से उसकी चांदनी बोली !!
खुशियों से भरे आपकी झोली !!
मुबारक हो आप को रंग बिरंगी !!
पतंग वाली ‘मकर संक्रांति’ !!

गुल को गुलशन मुबारक हो !!
चाँद को चांदनी मुबारक हो !!
शायर को शायरी मुबारक हो !!
और हमारी तरफ से आपको
मकर सक्रांति मुबारक हो !!

खुले आसमा में जमी से बात न करो !!
ज़ी लो ज़िंदगी ख़ुशी की आस न करो !!
हर त्यौहार में कम से कम हमे न भुला करो !!
फ़ोन से न सही मैसेज से ही संक्राति विश किया करो !!

बचपन में वो धूम मचाना !!
मौज मनानायारो के साथ पतंगे उड़ाना !!
बहुत सही था यार वो ज़माना !!
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें !!

तिल पकवानों की मिठास जिंदगी में भरिये !!
पतंगों की तरह आकाश में बुलंदी पाइये !!
और अपनी मेहनत की डोर से बुलंदी को संभाल के रखिये !!
आपको मकर संक्रांति की शुभकामनायें !!

Happy makar sankranti shayari

पल पल सुनहरे फूल खिले !!
कभी न हो काँटों से सामना !!
जिंदगी आपकी खुशियो से भरी रहे !!
यही है मकर संक्रांति पर हमारी शुभकामना !!

हर पतंग जानती है !!
अंत में कचरे में जाना है !!
लेकिन उससे पहले हमें !!
आसमान छूकर दिखाना है।

मकर संक्रांति के दिन !!
आपके जीवन का अंधेरा छंट जाए !!
एवं ज्ञान और प्रकाश से !!
आपका जीवन उज्ज्वल हो जाए।
Happy Makar Sankranti !!

काट ना सके कभी कोई पतंग आप की !!
टूटे ना कभी डोर आपके विश्वास की !!
छु लो आप जिंदगी की सारी कामयाबी !!
जैसे पतंग छूती है ऊँचाइयाँ आसमान की !!
मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकमाए !!

हो मिठास की बोली !!
मीठे और हर वक्त मीठी !!
जुबान त्यौहार है !!
मकर संक्रांति का और !!
आपको भी हमारा यही पैगाम !!
Happy Makar Sankranti !!

मिठे मिठे गुड़ में मिल गया TiL !!
उड़ी पतंग और खिल गया DiL !!
चलो उड़ाये पतंग सबलोग Mil !!
Happy Uttarayan !!

तन में मस्ती !! मन में उमंग !!
चलो आकाश में डाले रंग !!
हो जाये सब संग संग उडाए पतंग !!
हैप्पी मकर संक्रान्ति !!

तन में मस्ती मन में उमंग !!
चलो आकाश में डाले रंग !!
हो जाये सब संग संग !!
उडाए पतंग हैप्पी मकर संक्रान्ति !!

हर पतंग जानती है !!
अंत में कचरे मे जाना है !!
लेकिन उसके पहले हमें !!
आसमान छूकर दिखाना है !!
बस ज़िंदगी भी यही चाहती है !!

अंगूठा बचाये रखना !!
पतंग तो 2 दिन है !!
पर व्हॉट्सऐप फेसबुक तो !!
365 दिन है !!
खास करके Loves – सूचना जनहित में जारी !!

Titli shayari

ऊँची पतंग से मेरी ऊँची उड़ान होंगी।
इस जहाँ में मेरे लिए मंजिले तमाम होंगी।
जब भी आसमान की और देखोगे तुम दोस्तों।
तुम्हारे ही हाथों मेरी डोर के साथ जान होंगी।
तिल्ली भी पीली और गुड़ में मिठास होंगी।

मकर सक्रांति पर्व पर मेरी तरफ से बधाइयाँ बार बार होंगी।
मीठी बोली मीठी जुबान मकरसंक्रांति का है ये ही पैगाम !!

टिल हम हैं और गुड आप !!
मिठाई हम हैं और मिठास आप !!
साल के पहले त्यौहार से हो रही है शुरुवात !!
आपको हमारी तरफ से ढेर सारी मुराद !!

जब सूरज मकर राशि में आता है !!
तो बहुत लोगो के दुःख-दर्द मिटाता है !!
हैप्पी मकर संक्रांति 2024 !!

पल पल सुनहरे फूल खिले !!
कभी न हो काँटों से सामना !!
जिंदगी आपकी खुशियो से भरी रहे !!
यही है मकर संक्रांति पर हमारी शुभकामना !!

त्यौहार नहीं होता है अपना पराया !!
त्यौहार वही जिसे सबने मनाया !!
तो मिला के गुड़ में तिल !!
पतंग संग उड़ जाने दो दिल !!
हैप्पी मकर संक्रांति !!

भगवान भास्कर आपको !!
यश वैभव एवं सुख समृद्धि प्रदान करें !!
शुभ मकर संक्रांति !!

उड़े पतंग उम्मीद और आस की !!
बढ़े कद प्यार और विश्वास की !!
मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर !!
जीवन में एंट्री हो किसी ख़ास की !!
Happy Makar Sankranti 2024 !!

टूटे जीवन के भ्रम और भ्रान्ति !!
सफलता के लिए करते रहे क्रांति !!
ताकि जीवन में आये सुख और शांति !!
मुबारक हो आपको मकर संक्रांति।
हैप्पी मकर संक्रांति 2024 !!

Rate this post

Leave a Comment

Chat now
1
Hello 👋
Can we help you?