251+👉 Best Gulzar Shayari in Hindi Love | गुलज़ार शायरी इन हिंदी

Shayari in hindi gulzar

हंसना मुझे भी आता था पर !!
किसी ने रोना सिखा दिया !!
बोलने में माहिर हम भी थे !!
किसी ने चुप रहना सिखा दिया !!

मै ही मनाऊ हमेशा तुझे !!
कभी तू भी तो मना मुझे !!
महसूस तो करू कैसा लगता है !!
जब यार अपना मनाता है !!

जिस्म से होने वाली मोहब्बत का !!
इज़हार आसान होता है !!
रूह से हुई मोहब्बत समझने में !!
ज़िन्दगी गुज़र जाती है !!

दूरियां जब बढ़ी तो !!
गलतफहमियां भी बढ़ गई !!
फिर उसने वो भी सुना !!
जो मैंने कहा ही नहीं !!

सुनाऊ क्या !!
किस्सा थोड़ा अजीब है !!
जिसने खंज़र मारा है !!
वही दिल के करीब है !!

तुम्हें मोहब्बत कहां थी !!
तुम्हें तो सिर्फ़ आदत थी !!
मोहब्बत होती तो हमारा !!
पल भर का बिछड़ना भी !!
तुम्हे सुकून से जीने !!

1/5 - (2 votes)

Leave a Comment

Chat now
1
Hello 👋
Can we help you?